Answers

2015-05-05T20:27:16+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
    स्वच्छता हमारे जीवन में एक महत्व पूर्ण  विषय और विचार है।  स्वच्छता और सफाई के बिना हम ठीक तरह जी नहीं सकते हैं।  हर दिन हमारे घरों में बहुत धूल गिरती है।  यह धूल सड़कों से उड़कर घरों में दफ्तरों में आ जाती है।  इस से हमारी शहद को हानि पहुंच सकता है। टी बी जैसे रोग पर्वावरण का प्रदूषण और धूल से हो सकते हैं । और कचरा  इधर उधर नहीं फेंकना चाहिये।

     अगर हम हमारे घर को सॉफ नहीं करते, और आसपास के जगहों को भी सॉफ नहीं रखते, तब, मच्छर और कीड़े वहां पर पैदा हो जायेंगे।  उन से हमें काफी नुकसान पहुंच सकता है ।  हम बीमार पड़  सकते हैं । तब तो हमारे बहुत सारे पैसे भी खर्च होंगे ।  बीमरी की तकालीफें   भी उठानी भी पड़ेंगी ।

     रास्ते में चलते वक्त अगर कुडे डिब्बों के पास से जाना होता है, तब हम जानते हैं कि क्या तकालीफ होता है।  सास लेना बहुत मुश्किल होता है।  बहुत लोग स्कूटर पर जाते वक्त नाक पर कपड़ा बांध लेते  हैं।

        अगर सड़कें , मार्केट सॉफ नहीं होते हैं, तो हम लोगों को बहुत खराब लगता है ।  हम वहां  नहीं जाना चाहते हैं । हम को हर दिन अच्छी तरह से नहा धो लेना चाहिये ।  इस से हम खुद स्वस्थ रहेंगे ।  कूड़ा सिर्फ कूड़े  वाले डिब्बे में या थैली में डाल कर, बाहर म्यूनिसिपॅलिटी के कूड़े के डिब्बे में फेंक देना चाहिये ।

     स्वच्छ और सॉफ होने और रहने से हमें सब लोग पसंद करेंगे ।  हमें अच्छे खयाल आयेंगे। हमारे दोस्त भी हमें देखकर पसंद करेंगे ।  यह इतनीसी बात है कि अगर विद्यालय में एक विद्यार्थी गंदे कपड़े पहने तो कोई भी उसके बगल में बैठना नहीं चाहता है।

      स्वच्छ रहने से हम अपनी और सब की भलाई  भी कर रहे हैं।   हमें स्वच्छता का महत्व जानकर  बिना  भूले  स्वच्छता की आदत डाल लेनी चाहिये।

===========================
        लकडी , रब्बर जैसी चीजें  बाहर खुली हवा में जलाना नहीं चाहिये।  अपनी मोटर गडी को बिना जरूरत के इस्तेमाल नहीं करना चाहिये।  इस से हम पर्यवरण को सफ राख सकते हैं।  पर्यवरण खराब होनेसे उसमें रहने वाले सब लोग जल्ड ही बीमारों से बाधित हो जायेंगे।  अब यही हो रहा है भारत में।   हम सब लोगों को  स्वच्छ रहने की   और पर्यवरण का प्रदूषन को कम करने कि तरीकें साखनी चाहिए ।

===============================================================
   Cleanliness is very important to all of us.  Our bodies are suited to live in clean environment.  Only some insects and animals can live in dirty environment.  God has initially created all beautiful and clean Earth, atmosphere and sky for us.  We have slowly degenerated it.  In the last 50 years we have rapidly degraded it.

   On top of the above damage, many people are throwing garbage every where.  Due to that unlearned practice, many others suffer.  Insects gather at uncleanly areas and breed.  People may get diseases and may have to spend a  lot of money.  Government also has to spend a lot of money.  So many medicines are needed. 

   We should clean our rooms, houses, and our surroundings regularly.  We should put the garbage bags in the designated boxes at the corners of streets.  Then they will be taken care of by the municipal corporations.  They will also take care of recycling waste to generate energy.

    We should maintain the roads, offices and public places clean.  Often in India people throw every thing around when there is a gathering or mela or a public event.  Cleanliness shows that we are disciplined.  Cleanliness also gives good atmosphere to think better.  The cleanliness of our body also is as important as the cleanliness of the country.

    People have said that cleanliness is next to Godliness.  Swachchata is to be built in to our regular schedule of the week.  The prime minister Modi has initiated the Swach Bharat Abhiyan to emphasize the importance of cleanliness to every Indian.  He hopes that every Indian in remote villages understands its necessity.




1 5 1
click on thanks button above please