Answers

2015-06-25T22:22:30+05:30
आने वाला कल है बेटी !
घर की चहल पहल है बेटी ,
जीवन  में एक कमल है बेटी ,
धुप कभी गुनगुनी सुहानी ,
बकभी चाँद सी शीतल है बेटी ,
शिक्षा गन सनकर रूप दो ,
फिर बेटो जैसी सबल है बेटी ,
अगर सहारा दे दो विस्वास का,
गंगा जल से पवित्र है बेटी,
प्रकृति के सब सद्गुण सींचो ,
तो प्रकृति सी निश्च्छल सी है बेटी ,
क्यों डरते हो पैदा करने से ?
अरे आने वाला कल है बेटी !
1 4 1