Answers

2015-07-14T23:18:43+05:30
मोहनदास करम चन्द गांधी या महात्मा गांधी जी मेरे जीवन के आदर्श व्यक्ति है |200 साल की गुलामी क बाद 15 अगस्त 1947 मे भारत को आज़ादी मिली,जिसमे महात्मा गांधी जी का बहुत बड़ा योगदान था |गांधी जी ने सभी को अहिंसा के राह पर चलने के लिए प्रेरित किया |गांधीजी की इन्ही सभी बातों का मेरे मन पर बहुत गेहरा प्रभाव पड़ा |इसलिए मैंने गांधीजी को मेरा आदर्श व्यक्ति चुना | देश के विकास के लिए एवं सामाजिक बुराइयों को दूर करने क लिए ,सभी नागरिकों को चाहिए की वे अपने जीवन मे अच्छे आदर्शो और नैतिकता का पालन करे |गांधीजी ने अहिंसा परमों धर्म : नारे के साथ सभी को सिखाया की बिना अहिंसा के भी लक्ष्य को हासिल केर सकते है | गांधीजी ने अपने आदर्शो से भारत ही नहीं पूरे विश्व का मार्गदर्शन किया |गांधीजी के आदर्शो को साथ लेकर मै अपने जीवन के लक्ष्यो को हासिल करने क लिए कार्यरत हूँ |
0