Free help with homework

Why join Brainly?

  • ask questions about your assignment
  • get answers with explanations
  • find similar questions


सावन की घटा…..सावन की घटा लहरके बरसी आज अरसे के बाद !!
सोंधी मिटटी की खुसबू महकी आज अरसे के बाद !!मेघ गाते मल्हार नभ में आज अरसे के बाद !
घन घन करते बरस रहे आज अरसे के बाद !!
जंगल में हो गया मंगल आज अरसे के बाद !
पपीहा बोला,मयूरी नाची आज अरसे के बाद !!
भीगे भीगे प्रीतम निखरे आज अरसे के बाद !!
प्रियसी मन लगी अग्न आज अरसे के बाद !!
चारो और देखा आलम ख़ुशी का अरसे के बाद !
लगा मन को मौसम सुहाना आज अरसे के बाद !!
डी. के. निवातियाँ _____@@@
0 0 0
The Brain
  • The Brain
  • Helper
Not sure about the answer?
Learn more with Brainly!
Having trouble with your homework?
Get free help!
  • 80% of questions are answered in under 10 minutes
  • Answers come with explanations, so that you can learn
  • Answer quality is ensured by our experts