Answers

2015-10-14T21:09:43+05:30
पिछले साल मै अपने परिवार के
साथ राजस्थान गया था । हम
सब ने तय किया कि यह यात्रा
हम सब Train (Railway or rail) से
करेंगे । इसलिए हमने train टिकट (ticket) पहले से irctc website से बुक कर लिया । मेरे
पापा ऑनलाइन बुकिंग में बहुत
स्मार्ट हैं । हम लोगों का जो रूट
था; वह सीधे राजस्थान को
नहीं था , बल्कि वाया नयी
दिल्ली से था । सबसे पहले हम सबने
दो दिन पहले से सामान की
लिस्ट तैयार की ।
यह packing करने का मेरे पापा के अनुभव के अनुसार सबसे अच्छा
तरीका है कि पहले आप एक
स्थान पर बैठकर लिस्ट बना ले।
ऐसा करने से कुछ भी बाद नहीं
जाता है । यह मेरे पापा का
तीस साल का अनुभव है । उसके
बाद हमने लिस्ट के अनुसार सारा
सामान packing कर लिया। एक
टैक्सी से हम सब दुर्गापुर railway
स्टेशन पर गए । ट्रेन राईट टाइम थी
। हम सब poorva Express में टिकट बुक किये थे । ट्रेन में बैठने के बाद
हमने अपना सामान ठीक से
रख लिए ।
मेरा टिकट window साइड में था
। ट्रेन journey में यह मेरा
पसंदीदा सीट है । मै खिड़की से
बहार पूरे दृश्य का आनंद लेने लगा ।
ट्रेन पूरे १०० km /hr की स्पीड से
चल लाही थी । ऐसा लगता था
मुझे कुछ भी याद नहीं है कि मुझे
दस दिन बाद स्कूल जाना है ।
पढाई के बोझ से मै तंग आ गया था
। उस दिन मुझे बहुत शोकून मिल
रहा था ।
करीब रात को नौ बजे हम सब ने खाना खाया । ट्रेन में हम लोग बहुत अच्छा खाने का इंतजाम करते हैं । खाना खा के मै सो गया । सुबह सात बजे हम सब Delhi पहुँच गए । Train Journey अपने आप में एक सुखद अनुभव है । दिल्ली जाकर हमने एक होटल बुक किया । होटल का लोकेशन जामा मस्जिद के पास में चुना गया था । जामा मस्जिद के पास होटल इसलिए लिया गया था , क्योंकि वहां का तंदूरी रोटी बहुत मशहूर है । पहले दिन साम को हम सब ने New Delhi घूमने का प्लान बनाया । और हमने लाल किला जाकर एक बस agency से चार टिकेट ले ली । तो इस तरह बस के द्वारा बहुत सस्ते में हम सब पूरा दिल्ली घूम लिए। एक दिन में Delhi पूरा घूमने में बहुत ही कम पैसा खर्च हुआ ।
उसके बाद तीसरे दिन हम सब पुरानी दिल्ली स्टेशन से करीब १०:४० पर अजमेर एक्सप्रेस में सवार हो गए । तो एक बार फिर ट्रेन journey का सिलसिला सुरु हो गया । सुबह हम लोग अजमेर पहुंचे । इसके बाद पूरा राजस्थान घूमे । वहां से हम लोग बस पकड़ कर आगरा आ गए । ताज महल देखने के बाद हम सब फिर दिल्ली आ गए । इस बार दिल्ली में थोडा आराम करके दुसरे दिन हम सब poorva Exp से दुर्गापुर वापस आ गए । इस पूरे टूर में जो सबसे अच्छा अनुभव रहा वह ट्रेन जौर्नी ही रहा । लेकिन इसके लिए सबसे जरूरी है की सारा टिकट प्लान करके पहले से बुक कर लिया जाए । इसका कारण है की journey के दौरान टिकट का टेंशन दिमाग में न रहे।
ट्रेन journey करने के पहले अछे से प्लान करना चाहिए । ट्रेन में खाने का इंतजाम अच्छा होना चाहिए तभी जाकर आप पूरा आनंद उठा पौएँगे ।
धन्यवाद !
6 3 6