Answers

2015-12-31T12:48:24+05:30
पानी हम पीते हैं, पानी से हम नहाते हैं, पानी से हम कपड़े धोते व बरतन मांझते हैं | Hope l helped u... Plz mark as the BRAINLIEST answer...
3 3 3
2015-12-31T13:00:09+05:30
भगवान ने मनुष्य को अनेक प्रकार के प्राकृतिक उपहार प्रदान किए है। जिनमें से जल एक महत्वपूर्ण उपहार है जल के बिना मनुष्य अधूरा है। मानव शरीर में दो तिहाई मात्रा पानी की है। धरती पर रहने वाले हर जीव को पानी की बहुत आवश्यकता है। इसलिए कहा जाता हैं जल ही जीवन हैं। आदमी चांद से लेकर मंगल तक की सतह पर पानी तलाशने में लगा हुआ है ताकि वहाँ भी जीवन संभव हो सके। जल हमारे शरीर में कार्बोहड्रेट्स ,प्रोटीन और वसा की तरह ही काम करता है।पानी के बिना हमारा जीवन संभव नही है। हमारे रोजमर्रा के जीवन में जल का बहुत महत्ब है। हमारा जीवन तो जल पर ही निर्भर है। यह हमारे शरीर को पाचन कार्य करने में बहुत मदद करता है। जल हमारे शरीर के तापमान को सामान्य बनाने में भी मदद करता है। परन्तु जब जल मनुष्य के लिए इतना महत्वपूर्ण है तो भी मनुष्य इसकी जरूरत को नही समझता और जल को दूषित करता रहता है। जल -प्रदूषण और जल की बर्बादी के कारण अब जल हमे पीने के लिए भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो पा रहा है। इसका उदाहरण दिल्ली ही है। जहाँ पानी लोगो को पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नही हो पा रहा। और जहाँ पानी प्राकतिक की देन हैं वहीं आज मनुष्य को पानी खरीदकर पीना पड़ रहा हैं।गंगा भारत की सबसे पवित्र नदी मानी जाती है। कहा जाता है। कि वह स्वर्गलोक की यात्रा कराने वाली नदी है। गंगा अनेक पापो को धोती है। परन्तु वही जीवन दायी गंगा आज कल कारखानों के जहरीले कूड़े – कचरे से प्रदूषित हो गई हैं।
0