Answers

2016-01-02T14:36:55+05:30
मेरा परिवार संयुक्त और बड़ा परिवार है । शहर में रहते हुए भी परिवार के सभी सदस्य साथ-साथ रहते हैं । मेरे परिवार में दादा-दादी, माँ-पिताजी, चाचा-चाची और हम पाँच भाई-बहन हैं । इस तरह कुल मिलाकर मेरे परिवार में ग्यारह सदस्य हैं । परिवार के सभी सदस्य आपस में मैत्रीभाव से रहते हैं । हमारा परिवार एक आदर्श और खुशहाल परिवार है । दादा-दादी परिवार के बुजुर्ग एवं सम्मानित सदस्य हैं । परिवार के अन्य सदस्य उनका बहुत आदर करते हैं । उनकी सलाह मानना सभी अपना कर्त्तव्य समझते हैं । दादा जी पहले शिक्षक थे, अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं । वे हम भाई-बहनों को नियमित रूप से पढ़ाते हैं । दादी जी धार्मिक प्रवृत्ति की महिला हैं तथा उनका अधिकांश समय पूजा-पाठ और ईश्वर- भजन में व्यतीत होता है । फिर भी कुछ समय वे परिवार के लिए भी निकालती हैं । वे माँ और चाची को गृहकार्य में यथासंभव सहयोग देती हैं । माँ और चाची को वे परिवार की बहू नहीं बल्कि अपनी बेटी मानती हैं ।
0
2016-01-02T19:19:54+05:30