Answers

2016-02-15T17:20:04+05:30
दी पत्र लेखन का नया प्रारूप (Hindi letter writing new format)     पत्र-लेखन भी एक कला है जिसके सही प्रयोग से हमें कई तरह के लाभ होते हैं- पत्र लेखन आधुनिक युग में ई-मेल के रूप में परिवर्तित हो गया है। ऐसा होने के बाद भी  पत्र के नियमों का पालन कर हम अपने ई-मेल को अधिक प्रभावी बना सकते हैं। पत्र दो प्रकार के होते हैं- (क)-औपचारिक पत्र (ख)- अनौपचारिक पत्र पत्र का औपचारिक या अनौपचारिक होना यह विषय पर निर्भर करता है। उदाहरणार्थ- यदि आपके पिता किसी जिले के जिलाधिकारी हैं और आपको उन्हें पत्र लिखना है। सबसे पहले यह विचार करना होगा कि पत्र का विषय क्या है?  यदि पत्र का विषय व्यक्तिग
0