Answers

2016-04-12T22:05:49+05:30
Ram navami hindhu logonka pavithra parv hai.yaha chaithra mass mai shukla paksha ki navami ko manaya jathi hai.es dhin shri rama ke janma dhin ke roop me manaya jhatha hai.

shri rama navami ke dhin me jagah-jagah garo aur mandhiro me ram navami ki pooja karthi hai .

hope this answer helps you......

2 3 2
The Brainliest Answer!
2016-04-14T21:15:33+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
राम नवमी हिन्दुओं का एक महत्त्वपूर्ण पर्व है। हर वर्ष चैत्र शुक्ल नवमी को यह त्यौहार भगवान् राम के जन्मदिन के उपलक्ष में बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। भगवान राम विष्णु जी के एक अवतार है।  मनुष्य के रूप में इस पृथ्वी पर जन्म ले कर उन्होंने अजेय रावण के साथ युद्ध किया। रावण का संहार कर के उन्होंने इस पृथ्वी से बुराई का अंत किया। भगवन राम की कहानी वाल्मीकि जी ने एक महाकाव्य (रामायण ) के रूप में 8 या 7 वीं शताब्दी में लिखी थी। 


रामनवमी का त्योहार देश भर में भक्ति और श्रद्धा के साथ मनाया जाता है।  भगवन राम का जन्म स्थान होने के कारण अयोध्या में इस पर्व का विशेष महत्त्व है।  वहां प्रति वर्ष एक महान समारोह का आयोजन होता है। राम और उनकी पत्नी सीता, भाई लक्ष्मण और भक्त हनुमान की रथ यात्राएं या 'रथ जुलूस' शहर भर में निकले जाते हैं। विशाल मेले का आयोजन भी होता है जहां देश विदेश से लोग खींचे चले आते हैं।  मंदिरों और घरों में रामचरितमानस  का पाठ किया जाता है। लोग नौ दिनों तक पूजा पाठ करते हैं, रोज मंदिर जाते हैं और भगवान को  फूल और फल की भेंट चढाते हैं। कई लोग नौ दिनों का उपवास भी रखते हैं और केवल फलाहार का सेवन करते है। नवमे दिन घर में प्रसाद बना के कन्या पूजन कर के उन्हें भोजन खिलाया जाता है। 

हर क्षेत्र में रामनवमी अपने अलग ढंग से मनाई जाती है।  इस त्यौहार को मनाने के तरीके चाहे अलग हों परन्तु इस के पीछे भावना एक ही है - भगवन श्री राम के प्रति अपार श्रद्धा और बुराई पे अच्छाई की जीत होने का सुढृढ़ विश्वास। 
2 5 2