Answers

2016-04-24T11:50:09+05:30
ब्रिटिश शासन द्वारा 200 साल तक राज करने के बाद ,15 अगस्त 1947 ,के दिन भारत को स्वतन्त्रता प्राप्त हुई । स्वतन्त्रता का मतलब है कि अपने देश का शासन देश के लोगो के द्वारा किया जाये। अंग्रेज़ो कि गुलामी के वक्त हमारा देश स्वतंत्र नहीं था इसलिए भारत वासियों को पूर्ण अधिकार प्राप्त नहीं थे। लोगो के ऊपर कई कर या लगान लगाए जाते थे और उन्हे कई अपमान और प्रताडनाए भी झेलनी पड़ती थी। स्वतन्त्रता से जीने का अपना अलग ही मजा है। स्वतंत्र देश के नागरिकों को कई मौलिक अधिकार प्राप्त होते है। लोग अपनी मर्जी से अपने धर्म का पालन कर सकते है। सभी को समानता का अधिकार होता है । अगर किसी के साथ अन्याय हुआ है तो न्याय के लिए वह न्यायालय मे जा सकता है । स्वतन्त्रता के कारण सभी को अपने अपने तरीके से जीने का अधिकार मिलता है। बच्चे उपयुक्त शिक्षा प्राप्त कर सकते है । युवा अपने पसंद का रोजगार चुन सकते है । स्वतन्त्रता होने से देश का धन देश के पास ही होता है जिससे विकास और नागरिकों के हितो मे खर्च किया जा सकता है। स्वतन्त्रता के कारण ही ,देश सामाजिक और आर्थिक रूप से विकसित होता है और नागरिकों मे संपन्नता बढ़ती अहि और उनका जीवन स्तर सुधरता है।
2 5 2