Answers

2016-04-26T12:04:07+05:30
जीवन को सही तरीके से जीने के लिए एक लक्ष्य का होना आवश्यक है | लक्ष्यहीन  व्यक्ति जीवन में कुछ भी सार्थक नहीं कर सकता। प्रयत्न और परिश्रम तभी संभव है जब एक सुस्पष्ट लक्ष्य हो। लक्ष्य होने से हमारा जीवन सफलता की ऊँचाई छु सकता है |जीवन का लक्ष्य ही जीवन के सफलता की पहली सीडी है |जिस प्रकार द्रोणाचार्य ने अर्जुन को लक्ष्य देकर ही एक सफल योद्धा बनाया था , ठीक उसी प्रकार हमारे जीवन मे भी एक लक्ष्य होना चाहिए|लक्ष्य ,भी ऐसा होना चाहिए जो हमारे मानव समाज की उन्नति मे सहायक हो। मेरा लक्ष्य जीवन मे एक ईमानदार इंसान एवं एक सफल डॉक्टर बनना है |ईमानदार व्यक्ति ही जीवन को सही तरीके से जी सकता है एवं दूसरों की सहायता कर सकता है |समाज को सुंदर बनाने के लिए समाज मे ईमानदार लोगो का होना ज़रूरी है | डॉक्टर , लोगो का इलाज करते हैं और लोगो की जान बचाने एवं उन्हे स्वस्थ रखने का काम करते है । डॉक्टर को ईश्वर का एक रूप भी माना जाता है । मैं धन कमाने के लिए डॉक्टर नहीं बनना चाहता।यह एक ऐसा पेशा है जिसमे आप प्रत्यक्ष रूप से समाज की सेवा करते है | मैं चाहता हूँ कि मैं डॉक्टर बनकर गरीब अनाथ एवम् असहाय लोगो का इलाज कर सकूँ।इन सभी बातों को ध्यान मे रखते हुए एवं शिक्षा मे जीव विज्ञान के प्रति मेरी रुचि को देखते हुए डॉक्टर बनना ही मेरा लक्ष्य है |इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए मैंने अच्छे आदर्शो को अपनाया |साथ-साथ शिक्षा मे भी कठिन परिश्रम कर रहा हूँ |मुझे विश्वास है की अपनी कठिन परिश्रम से आने वाले समय मे जीवन मे इन लक्षों को प्राप्त कर लूँगा | जिस प्रकार गीता मे श्री कृष्ण ने कहा था की "कर्म कर और फल की चिंता मत कर "उसी तरह हम सभी को चाहिए की जीवन मे एक लक्ष्य बनाए और उसकी प्राप्ति क लिए परिश्रम करते रहे |
0