Answers

2014-10-07T17:17:17+05:30
The below picture is poem on holi.
the written poem is on dreams.
सपना
 
सोने के बाद जो याद आता है, वो है सपना
होश जिसमे खो जाता है, वो  है सपना
मैं मैं नहीं तू तू नहीं रहता, वो है सपना
हस्ती में जो मस्ती छाए, वो है सपना
पागल बन गए हैं दुनिया में हम आकर, वो है सपना
अपना को छोङ परायों के हो गए हैं हम, वो है सपना
जमीन से आसमान पर पहुँच गए हैं हम, वो है सपना
यारों सच कहता हूँ सुनो, कोई भी नहींहै अपना
शरीर सो जाये , आत्मा जाग जाये , बस वही है जीवन अपना
बाकी सब कुछ है झूठा सपना !!!
0