Answers

2014-11-01T12:44:39+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
दो या अधिक शब्दों को समक्षिप्त कर के एक शब्द में लिखने या बोलने को समास कहते हैं।  हिन्दी व्यकारण में  समास के  चार भेद  हैं।  

(1) १  अव्ययीभाव समास 
समास में पहला शब्द मुख्य और प्रधान होता है। और पहला शब्द अव्यय होता है।

उदाहरण हैं:    आमरण = मृत्यु-तक  ,   यथामती = मती के अनुसार,  भरपेट = पेट भर , बेशक = बिना  शक के = शक के बिना ,    

(2) २ तत्पुरुष समास  इस समास में दूसरा शब्द मुख्य होता है और पहला शब्द गौण होता है।

 उदहरण हैं:  स्वयंकृत = स्वयम से कृत = स्वयं  से रचित ,  रसोई घर = रसोई के लिये घर ,  मनचाहा = मन से चाहा हुवा  गंगाजल = गंगा का जल ,  नागरवासी = नागर के वासी     

(3) ३ द्वंद्व  समास  इस में दोनों शब्द मुख्य होते हैं।  दोनों शब्द के बीच में "अथवा", "या" , "एवम"  लगते  हैं। 

राम-सीता,  ऊँच-नीच , खट्ठा-मीठा     

(4) ४  बहुव्रीही  समास  इस समास में दोनों शब्द अप्रधान होते हैं। समास का अर्थ और कुछ होता है। दोनों शब्द का अर्थ नहीं होता। 

उदाहरण हैं:   दशकण्ठ = रावण ;  नीलकंठ ;  सुलोचना = सुन्दर लोचन वाली    

0
Sir u shuld nt copy frm websites. If u hv nt copied then hw come u have written yhe hard words..