Answers

2014-11-23T00:02:20+05:30
स्वच्छ भारत अभियान  की शुरुवात नरेंद्र मोदी ने किया था.   ये २ अक्टूबर को आरम्भ हुआ था.   २ अक्टूबर को मोहन दास करमचंद गांधीजी का भी जनम दिन है.   ये चाहते थे की भारत सिर्फ स्वतंत्र नहीं होगी , भारत स्वच्छ भी होगा.   इस लिए  इस अभियान को इनके जनम दिन पर आरम्भ किया गया है.   हम सब का भी कर्त्तव्य बन ता है की हम सब मिलकर इस में भाग ले .   हमें अपने घर को स्वच्छ बनाना चाहिए.   हमें हमरे घर के शौचालय भी स्वच्छ रखना चाहिए.   बगीचे में कूड़े नहीं फेक ने चाहिए.हमारा दूसरा घर है विद्यालय  .   हमें इसे भी स्वच्छ रखना चाहिए.   अगर हम स्वच्छ नहीं रहेंगे तोह लोग हमें इज़्ज़त नहीं देंगे.   हमें रोज़ नहाना चाहिए ताकि हमारे देह से दुर्गन्ध न आये.   हमें धुले हुए कपड़े पहनने चाहिए ताकि हमें सुन्दर दिखे .   इससे हमारे इज़्ज़त घट के वजय और बरगी.   हमें आज से ही अपने घर और स्कूल को स्वच्छ बनाना आरम्ब कर देना चाहिए.   इस तरह से हम भारत को स्वच्छ बना पाएंगे.   भारत स्वच्छ होगा तोह हम भी स्वस्थ रहेंगे.   हम सब स्वस्थ रह पाएंगे.   हमें कोई भी तरह की भीमारी नहीं होगी.   हम अदा टोरो ताज़ा भी रह पाएंगे.
0
2014-11-23T11:37:07+05:30
Desh k vikas k liye swachhta bahut avashyak h. Agar desh swachh rahega , to hi swasth rahega. Is baat ko dhyaan m rakhte huye hamare pradhan mantri Shri Narendra Modi ne "swachh bharat abhiyan" shuru kiya h. Yah abhiyaan 2 October ko prarambh huya tha. Yeh abhiyaan Modi ji ne Gandhi ji ko shradhanjali swaroop diya h. Kyunki hamare Bapu Bharat ko ek swachh desh k roop m dekhna chahte the. Is sapne ko sakar karne k liye, pure desh m yeh abhiyaan shuru kiya gya h.
Is k doraan vidyalayo m bhi kayi gatividhiyan jaari ki gyi h, taki yeh abhiyann sirf bado tak hi seemit na rah jaaye.
Hame kuda-karkat sirf kudedaan m dalna chahiye. Hame dusro ko swachhta k mahtv k baare m batana chahiye. Hame har koshish karni chahiye jisse hamara desh ek swacch tatha swasth desh ban sake.

Swachhta ka agar rahe khayaal, to Bharat ho jaega khushaal!!

:) 
0