Answers

2015-04-30T16:50:08+05:30
स्वच्छ भारत अभियान  की शुरुवात नरेंद्र मोदी ने किया था.ये २ अक्टूबर को आरम्भ हुआ था.२ अक्टूबर को मोहन दास करमचंद गांधीजी का भी जनम दिन है.ये चाहते थे की भारत सिर्फ स्वतंत्र नहीं होगी , भारत स्वच्छ भी होगा.इस लिए  इस अभियान को इनके जनम दिन पर आरम्भ किया गया है.हम सब का भी कर्त्तव्य बन ता है की हम सब मिलकर इस में भाग ले .

हमें अपने घर को स्वच्छ बनाना चाहिए.हमें हमरे घर के शौचालय भी स्वच्छ रखना चाहिए.बगीचे में कूड़े नहीं फेक ने चाहिए.हमारा दूसरा घर है विद्यालय  .हमें इसे भी स्वच्छ रखना चाहिए.अगर हम स्वच्छ नहीं रहेंगे तोह लोग हमें इज़्ज़त नहीं देंगे.हमें रोज़ नहाना चाहिए ताकि हमारे देह से दुर्गन्ध न आये.

हमें धुले हुए कपड़े पहनने चाहिए ताकि हमें सुन्दर दिखे .इससे हमारे इज़्ज़त घट के वजय और बड़ेगी.हमें आज से ही अपने घर और स्कूल को स्वच्छ बनाना आरम्ब कर देना चाहिए.इस तरह से हम भारत को स्वच्छ बना पाएंगे.भारत स्वच्छ होगा तोह हम भी स्वस्थ रहेंगे.इस अभियान का लक्ष्य है गाओं में सौचालय बनवाना और उसे स्तेमाल करवाना.इस अभियान के ज़रिये लोग स्वच्छकता की महत्व जान पाएंगे.यह अभियान ५ साल तक चलेगा

.
0
2015-05-06T07:21:27+05:30
स्वच्छ भारत अभियान सफाई की दिशा में भारत में ले लिया एक बड़ा कदम था। यह भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किया गया था। उन्होंने कहा कि हम कुछ वापस देना चाहिएताकि गांधीजी हमें आजादी दे दी है कि कहते हैं। और भी गांधी स्वतंत्रता और सफाई चाहते थे जोदो बातें कर रहे थे। इसलिए हमारे प्रधानमंत्री अभियान भारत इस चकती एक श्रद्धांजलि गांधी जीका कहना है कि भरत आदर्श वाक्य हमारे देश स्वच्छ और पूरी तरह से प्रदूषण को कम कर देता है, जो पेड़ के साथ लगाए बनाने के लिए है जो एक अभियान है। इसके लक्षणों में स्वस्थ लोगों के साथ प्रदूषण और स्वच्छ परिवेश में नुकसान हुआ है। 
          इस स्वच्छ भारत अभियान  के अनुसार साफ और स्वच्छ भारत रखने के लिए हमारी सरकार द्वारा शुरू किया एक मिशन है। स्वच्छ  भारत मिशनके लिए हमारे वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के 2 एन डी अक्टूबर को शुरू किया गया था और वे चुनौती लेने और नौ से अधिक लोगों को नामित करना और इतनी I यह शामिल होने केजीवन के सभी क्षेत्रों से प्रसिद्ध लोगों के साथ तब से आगे बढ़ाया गया है। स्वच्छ भारत मिशन के स्वतंत्रता दिवस पर घोषणा की और 2 अक्टूबर को शुरू किया गया था।
 
                      स्वच्छ भारत हमारे जीने में एक अच्छा प्रभाव दिखाता है। यह सबसे पहले हम भी हमें स्वस्थ रखता है जो इस के अंतर्गत आने साफ कपड़े पहने, ब्रश होने, स्नान बात करके स्वच्छ हर दिन हमें रखने के लिए इसका मतलब है।          
             आम तौर पर हम अपने स्वास्थ्य पर काफी प्रभाव दिखाकर मच्छर जनसंख्या में वृद्धि हो जाती है, जो हमारे परिवेश में कचरे से बाहर फेंक देते हैं। 
          
                   हम धूल डिब्बे का उपयोग अगर हम हम संक्रमण या वायरल रोगों के किसी भी प्रकार प्राप्त फ्लॉप स्वच्छ हमारे शौचालय रखने  मलेरिया ,डेंगू की कोई समस्या नहीं होगी ..
          हम स्वच्छ हमारे शहर रखने अगर हम कई बीमारियों से प्रभावित नहीं करेगा। इसलिए भारत की सफाई से सुरक्षित रखने के लिए।
0