Answers

2015-07-05T17:01:50+05:30
Iska matlab hota hai jab kabhi prakriti niyam k virudha chalne lage..achanak se bhukhamp,jwalamukhi ka fatna ye sab prakritic aapda hai
0
2015-07-05T17:34:01+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
प्रकृति के द्वारा किए गए ऐसे अकस्मात एवं नुकसानदायक परिवर्तन , जिससे जन जीवन प्रभावित होता है प्राकृतिक आपदाए कहलाती हैं । बाढ़ , भूकंप , तूफान , सुनामी आदि प्राकृतिक आपदाए है। जिस क्षेत्र मे इस तरह की कोई आपदा आती है तो वहाँ निवास करने वाले सभी मनुष्य एवं जीव जन्तुओं का सामान्य जीवन प्रभावित हो जाता है । अगर आपदा बहुत तीव्र है तो जन धन की हानी भी होती है ।
भारी वर्षा के कारण भूमि के बहुत बड़े क्षेत्रफल पर नदी , नहर आदि के जल का फैल जाने की स्थिति ही बाढ़ कहलाती है । सामान्यतः नदी के आसपास वाले इलाको मे , वर्षा ऋतु के समय बाढ़ आने की संभावना अधिक होती है । गाँव , कस्बे ,शहर आदि मे बाढ़ आने की वजह से जन जीवन अस्त व्यस्त हो जाता है । कई बार बाढ़ आने की वजह से मकान ढह जाते है , जन धन की हानि भी होती है । बाढ़ से फ़सले भी नष्ट हो जाती है या फिर उन्हे काफी नुकसान हो जाता है । बाढ़ आने की मुख्य वजह तो भरी बारिश ही है परंतु कुछ अप्रत्यक्ष कारण भी है जैसे- जंगलों की अंधाधुंध कटाई , मिट्टी का कटाव , ग्लोबल वार्मिंग आदि। बाढ़ को रोकने के लिए नदियों पर बनाए गए बांध (डेम) काफी कारगर साबित हुये है। नए नए तालाब बनाकर भी बाढ़ को कम किया जा सकता है। परंतु बाढ़ एक प्राकृतिक आपदा है जिसे पूर्ण रूप से रोकना असंभव है ।
गंगा, दामोदर ,कोसी , ब्रह्मपुत्र् आदि भारत की नदियो द्वारा लगभग हर साल आसपास के इलाको मे बाढ़ लाई जाती है। अभी कुछ वर्ष पूर्व , उतराखंड मे आई बाढ़ मे हजारो लोग मारे गए। शासन द्वारा भी बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए सेना की मदद से प्रयास किए जाते है ।
भूकंप भी एक प्राकृतिक आपदा है । भूमि के अंदर होने वाली टेक्टोनिक क्रियाएँ , भूकंप आने का प्रमुख कारण है।
भूकंप से धरती हिलने लगती है और अगर भूकंप की तीव्रता अधिक हो तो इमारते , मकान , ब्रिज आदि ढहने लगते है। मकान गिरने से कई लोगो की मौत भी हो जाती है । भारत मे कच्छ (गुजरात ) तथा नेपाल मे हाल ही मे आए भूकंप से हजारो लोगो की मौत हुई । भूकंप को रिक्टर पैमाने पर नापा जाता है । भूकंप से निपटने के लिए भूकंप रोधी मकान बने जा रहे है ।
तूफान ,सायक्लोन आने से भी जन जीवन प्रभावित होता है । अभी हाल ही मे आये तूफान हुड हुड के कारण उड़ीसा मे काफी नुकसान हुआ।
समुद्र के अंदर आने वाली बहुत ऊंची लहरों से तटीय इलाको मे पानी भर जाता है और बहुत नुक्सान होता है , इसे ही सुनामी लहरे कहते है। ये मुख्यतः समुन्द्र के अंदर भूकंप के आने से उत्पन्न होती है ।
इन सभी प्राकृतिक आपदाओ को रोकना असंभव है इसी लिए सभी को इन से बचाव के बारे मे जागरूक होना चाहिए है ।
0