Answers

2015-08-02T10:14:49+05:30
देश का मीडिया और सरकार अमेरिकी दूतावास में
भारतीय डिप्लोमेट "देवयानी" के साथ हुए दुर्व्यवहार से
भड़क रही है. देवयानी के साथ जो हुआ वो गलत है और हर
हाल में निंदनीय है, लेकिन जिस देश के नेता "खेमका"
और "दुर्गा शक्ति नागपाल" को सम्मान नहीं दे पाये,
आर्मी चीफ को बदनाम करने में पूरी मशीनरी लगा दी, वो मीडिया के सामने कड़ी कारवाही की एक्टिंग करते
हैं तो लोकतंत्र भी मुस्कुरा जाता है.
1 5 1