Answers

2015-08-28T15:25:10+05:30
यौनिक क्रियाशीलता पक्षाघात वाले पुरुषों के लिए चिंता का प्रमुख विषय होती है। पुरुष यह जानने के लिए उत्सुक होते हैं कि क्या वे अभी भी ''वैसे ही सक्षम'' हैं या फिर यौनिक आनंद अतीत की बात बनकर रह गया है। वे इस बात को लेकर चिंतित होते हैं कि अब वे बच्चों के पिता नहीं बन सकेंगे, उनके जोड़ीदार उन्हें अनाकर्षक पाएंगे, कि जीवन-साथी अपना बोरिया-बिस्तर बांधकर उनके पास से चला जाएगा। यह सच है कि बीमारी या चोट के बाद पुरुष अक्सर ही अपने रिश्तों और यौनिक गतिविधि में परिवर्तन का सामना करते हैं। बेशक, भावनात्मक परिवर्तन घटित होते हैं और ये परिवर्तन व्यक्ति की यौनिकता को प्रभावित कर सकते हैं।
0