Answers

2015-09-03T19:13:11+05:30
गोकुल के नटखट गोपाल तुम कब आओगे
गलियाँ पड़ी हैं सुनी,यमुना भी देखती रह
गोकुल के नटखट गोपाल तुम कब आओगे
मोर मुकुट मधुर मुरली वाला रूप तुम कब दिखाओगे
गोकुल के नटखट गोपाल तुम कब आओगे
मुख मे लिए जग, करते गोपियों को मोहित
हे नटखट गोपाल तुम कब आओगे
वह गोपियों के घर माखन चुराना,
वह कानी उंगली पर पर्वत उठना
यह लीला फिर कब दिखाओगे
हे कृष्ण कन्हैया तुम कब आओगे




0