Answers

2015-11-17T09:08:45+05:30
शीत ऋतु 'शीत' ऋतु का आगमन वर्षा ऋतु के पश्चात् होता है। शीत ऋतु भारत की मुख्य ऋतुओं में से एक ऋतु है। शीत ऋतु नवंबर से लेकर फरवरी के बीच तक रहती हैं। शीत ऋतु अपने साथ त्यौहारों की बहार लेकर आती है। दीपावली, दशहरा, नवरात्र, दुर्गा पूजा, भईया दूज, क्रिसमिस आदि इस ऋतु में आने वाले प्रमुख भारतीय त्यौहार हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह ऋतु उत्तम होती है क्योंकि इस ऋतु में पाचन शक्ति मजबूत होती है। शीत ऋतु में दिन छोटे व रातें बड़ी हो जाती हैं। शीत ऋतु के मध्य में पूरा भारत सर्दी के कारण ठिठुरने लगता है। लोग अपने-अपने घरों में ऊनी कपड़े व रजाई निकाल लेते हैं। अत्यधिक ठंड से व कोहरे से जन-जीवन अस्त-व्यस्त होने लगता है। सुबह सवेरे कोहरे का आंतक छाया रहता है। रेल यात्रा और हवाई यात्राएँ पर इसका खासा असर दिखाई पड़ता है। अत्यधिक ठंड कई लोगों की मृत्यु का कारण भी बन जाती है।
0