Answers

2015-11-17T19:51:01+05:30
रामधारी सिंह दिनकर के इस कविता में हमें गीत अगीत के महत्त्व के बारे में पता चलता है।प्रस्तुत काव्य के द्वारा जीवन में प्रेम और कोमलता के महत्त्व को प्रतिपादित किया गया है।गीत और अगीत इसमें कौन सुंदर है?इस सवाल का जवाब कवि ने पंकती के रूप में प्रस्तुत की है। जैसे पहले पद में बहती नदी अपने मन की व्यता को दूर करने के लिए उसके किनारों से संवाद करती है।तट पर गुलाब सोचती है की अगर उसके पास भी स्वर होता तो वह अपना सोच प्रकट कर पाता।इस पद में नदी की स्वर गीत है ओर गुलाब का सोच अगीत है। दूसरे पद में एक शुक शुकिया को छाया देते हुए डाल पर बैंठके ख़ुशी से गा रहा है। शुकिया गाना तो चाहती है पर वह अंडे को सेतते हुए एसा नहीं कर सकती है।इस पद में शुक का सुख गीत के रूप में प्रकट किया हुआ है और शुकिया की सोच अगीत है।
1 5 1
It is the same way In the third para and at last conclude that the author says that both Geet and ageeth are important and both are equal.
pls choose my ans as best I put a lot of hardwork into this