Answers

2016-03-27T17:54:20+05:30
समय, सफलता की कुंजी है। समय का चक्र अपनी गति से चल रहा है या यूं कहें कि भाग रहा है। अक्सर इधर-उधर कहीं न कहीं, किसी न किसी से ये सुनने को मिलता है कि क्या करें समय ही नही मिलता। वास्तव में हम निरंतर गतिमान समय के साथ कदम से कदम मिला कर चल ही नही पाते और पिछङ जाते हैं। समय जैसी मूल्यवान संपदा का भंडार होते हुए भी हम हमेशा उसकी कमी का रोना रोते रहते हैं क्योंकि हम इस अमूल्य समय को बिना सोचे समझे खर्च कर देते हैं।

विकास की राह में समय की बरबादी ही सबसे बङा शत्रु है। एक बार हाँथ से निकला हुआ समय कभी वापस नही आता है। हमारा बहुमूल्य वर्तमान क्रमशः भूत बन जाता है जो कभी वापस नही आता। सत्य कहावत है कि बीता हुआ समय और बोले हुए शब्द कभी वापस नही आ सकते। कबीर दास जी ने कहा है कि,

काल करै सो आज कर, आज करै सो अब।
पल में परलै होयेगी, बहुरी करेगा कब।।

सच ही तो है मित्रों, किसी भी काम को कल पर नही टालना चाहिए क्योंकि आज का कल पर और कल का काम परसों पर टालने से काम अधिक हो जायेगा। बासी काम, बासी भोजन की तरह अरुचीकर हो जायेगा। समय जैसे बहुमूल्य धन को सोने-चाँदी की तरह रखा नही जा सकता क्योंकि समय तो गतिमान है। इस पर हमारा अधिकार तभी तक है जब हम इसका सदुपयोग करें अन्यथा ये नष्ट हो जाता है। समय का उपयोग धन के उपयोग से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि हम सभी की सुख-सुविधा इसी पर निर्भर है।

0
2016-03-27T18:23:18+05:30
एक कहावत है "कोई नहीं के लिए समय और ज्वार इंतजार कर रहा है।" कहावत है वास्तव में सच है । समय किसी के लिए इंतजार कर रहा है । यह आता है और चला जाता है। समय बिल्कुल अनबाउंड में सक्षम है। न तो पैसा है और न ही स्थिति इसे खरीद सकते हैं । पृथ्वी पर कुछ भी वश या इसे जीत सकते हैं। समय की सबसे उल्लेखनीय विशेषता इसकी  है । इसका मूल्य अथाह है और अपनी शक्ति अमूल्य है । इसकी क्षमता कुछ है जो हम गणना नहीं कर सकते है । एक मिनट के लिए एक जीत जीतने के लिए पर्याप्त है। एक दूसरा आप दुनिया में सबसे अमीर आदमी बनाने के लिए पर्याप्त है । एक दूसरे के एक अंश जीवन और मृत्यु के बीच अंतर कर सकते हैं ।
0