Answers

2016-04-09T21:36:36+05:30
सफाई का हमारे जीवन में बहुत महत्व है.हम सब को इस महत्वपूर्ण चीज़ कोसमझना होगा.साफ़ सफाई सिर्फ रास्तों में नहीं होनी चहिये.हमें अपने घरों को भीसाफ़ रखना होगा.हर रोज़ घर को पोछना और चमकना होगा.

घर के सौचालय को भी स्वच्छ रखना चाहिए.उसमे फ्लश करना चाहिए औरक्लीनर भी स्तेमाल करना चाहिए.घर के बगीचों को भी साफ़ रखना होगा.वह कूड़ेनहीं फेकने चाहिए और पेड़ फॉधे उगने चाहिए.

हमें हमारे विद्यालय को भी साफ़ रख न चाहिए.हमें हमारे मैदानों में कचरा नहींफेकने चाहिए.साफ़ फफै सिर्फ आस पास की चीज़ो की नहीं होनी चाहिए बरनीखुद्की भी होनी चाहिए.हमें हर रोज़ नहाना चाहिए.हमें धुले हुए कपड़े पहननेचाहिए.

इससे हमारी इज़्ज़त भी बरगी और हम सब स्वस्थ भी रहेंगे.स्वच्छता न   अपनानेसे हमें तरह तरह की बीमारी हो सकती है और बहुत किस्म की चमरी की बीमारी भीहो सकती है.हम सब इन सब बिमारियों से सुरक्षित रह सकते है अगर हम स्वच्छरहेंगे तोह.अगर हम सब स्वच्छ रहेंगे तोह हमें तारो ताज़ा महसूस होगा.लोग भी हमेंपसंद करेंगे.
0
2016-04-10T14:31:00+05:30
                          स्वच्छता 

स्वच्छता एक ऐसा कार्य नहीं है जो पैसा कमाने के लिये किया जाए बल्कि, ये एक अच्छी आदत है जिसे हमें अच्छे स्वास्थ्य और स्वस्थ जीवन के लिये अपनाना चाहिये। स्वच्छता सबसे पुण्य का कार्य है जिसे जीवन का स्तर बढ़ाने के लिये एक बङी जिम्मेदारी के रुप में हर एक को अनुकरण करना चाहिये। हमें अपनी व्यक्तिगत स्वच्छता, पालतु जानवरों की स्वच्छता, पर्यावरण की स्वच्छता, अपने आस-पास की स्वच्छता, और कार्यस्थल की स्वच्छता आदि करनी चाहिये। हमें पेड़ों को नहीं काटना चाहिये और पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने के लिये पेड़ लगाना चाहिये।

ये कोई बाध्यकारी कार्य नहीं है लेकिन हमें इसे शांतिपूर्ण तरीके से करना चाहिये। ये हमें मानसिक, शारीरिक, समाजिक और बौद्धिक रुप से स्वस्थ रखता है। सभी के साथ मिलकर लिया गया कदम एक बड़े कदम के रुप में परिवर्तित हो सकता है। जब एक छोटा बच्चा सफलतापूर्वक चलना, बोलना, दौड़ना सीख सकता है, और यदि अभिभावक के द्वारा इसको बढ़ावा दिया जाए तो वो बहुत आसानी से स्वच्छता की आदत को बचपन से ग्रहण कर सकता है। तर्जनी के द्वारा माता-पिता अपने बच्चे को चलना सीखाते है क्योंकि ये पूरे जीवन को जीने के लिये बहुत जरुरी है। उन्हें जरुर समझना चाहिये कि स्वच्छता एक स्वस्थ जीवन और लंबी आयु के लिये भी बहुत जरुरी होता है इसलिये उन्हे अपने बच्चों में साफ-सफाई की आदत को डालना चाहिये। अपने बच्चों में स्वच्छता को लाना एक बड़ा कदम होगा। अत: अब पूर्ण स्वच्छता हमसे बहुत दूर नहीं है। ये केवल एक पीड़ी से 4 से 5 साल दूर है क्योंकि आधुनिक काल में हमारे छोटे से बच्चे बहुत समझदार है सभी चीजों को समझने के लिये।

1 5 1