Answers

2016-04-10T09:59:48+05:30
Desh k liye jinhonene vilas ko thukraya tha ,
gire huon ko jinhonene swabiman sikhaya tha,
jisne ham sabkho tufano se takrana sikhaya tha
desh ka tha anmol wo deepak jo"baba saheb"kehalaya tha
aaj uski batho ko hum dil se apnayenge
sab miljulkar anbedkar jeyanthi manayenge .


hope this helps you :)))))


3 4 3
2016-04-11T13:53:41+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.

अंबेडकर जी: भारत के संविधान के मुख्य वास्तुकार


गहराई से देखा समाज को, समझा फिर विचार किया,

                      समाज का कोई तवका छुट न जाए, सबको सहारा दिया I

संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष बने और,

                      आजाद भारत के संविधान का निर्माण किया II

सबको आजादी, समानता का अधिकार मिला,

                      ख़ुशी से झूमे दलित शोषित, आपार आनंद मिला I

मिला सबको अधिकार, महिलाओं के अधिकारों की वकालत की,

                       अपना देश, अपना संविधान पाकर, सबका चेहरा खिला II

भारत जिस मुकाम पर है, सदा तुम्हारा ऋणी रहेगा I

                       संविधान की जब भी बात होगी, साहेब ! तुम्हारा नाम अमर रहेगा II

2 5 2