Answers

2016-04-16T15:51:14+05:30
स्वच्छ भारत अभियान के तहत मंगलवार को निसरपुर विकासखंड में ग्राम पंचायत निंबोल और दोदपुरा खुले में शौच से मुक्त घोषित किए गए। स्मार्ट विलेज के रूप में चयनित ग्राम निंबोल में मंगलवार रात आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर जयश्री कियावत ने कहा महिलाओं के स्वास्थ्य, सुरक्षा और सम्मान के लिए घर में शौचालय जरूरी है। अब जल्द ही मूलभूत समस्याओं को दूर किया जाएगा। उन्होंने सफाई के लिए कचरा वाहन भी उपलब्ध कराने की बात कही। निंबोल में शत-प्रतिशत शौचालय निर्माण होने पर खुले में शौच मुक्त गांव की घोषणा कलेक्टर जयश्री कियावत, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत धार के राजेश शाक्य, जिला पंचायत सदस्य ललिता लालजी पटेल, जिला ग्रामीण स्वच्छता अधिकारी कटारा, कुक्षी तहसीलदार राजेश पाटीदार, नायब तहसीलदार अनिल मंडराह, भू-अर्जन अधिकारी अंबाराम पाटीदार, पाटीदार समाज अध्यक्ष सहदेव पाटीदार, कामधेनू गौ-शाला अध्यक्ष महेंद्र गुप्ता, निसरपुर सीबीएमओ डॉ गेहलोत, निसरपुर जनपद सीईओ ओपी शर्मा की उपस्थिति में निंबोल सरपंच केशरबाई ने की। संचालन बीआरसी जियालाल पगारे ने किया। 
0
यह तो एक समचार पत्र से ली गयी है। निबंध नहीं है।