Answers

2016-04-30T22:58:05+05:30
If this is the ques of class 9 then the answer is:- माँ और मातृभूमी स्वर्ग से भी बड़कर है। माँ की गोद से उतरकर बच्चा मातृभूमी पर कदम रखता है। फिर घुटनों के बल चलना सीखता है। फिर धूल में सनकर अनेक क्रीडाएँ करता है। शिशु का बचपन मातृभूमी की गोद मे सनकर निखर जाता है। धूल के बिना किसी शिशु कि कल्पना नहीं की जा सकती। यह धूल ही है जो शिशु के मुह पर लगकर उसकी स्वभाविक सुंदरता को उभारती है।
0