Answers

  • Brainly User
2014-10-05T17:34:10+05:30
मनुष्य जीवित रहने के लिए प्राण शक्ति को वायुजलसूर्य-प्रकाशभोजन ,विचारों , गहरी नींद , संतुष्ट मनःस्थिति और परिवेश से निरंतर ग्रहण करता रहता है. प्राण तत्व वायु के oxygen में प्रचुर रूप से व्यप्त है इसलिए वायु को प्राण-वायु भी कहा जाता है. लेकिन प्राण की सत्ता वायु से भिन्न है . मृत व्यक्ति को oxygen - cylinder लगा देने से भी , उसका जीवन वापिस नहीं लाया जा सकता है.
                                                         PLZ MARK IT BEST
2 1 2
2014-10-05T17:39:47+05:30
Swachh barath is a mission in which our gandhiji thought of clean and tidy city and country which is very useful in getting away frm diseases

0