Answers

2014-10-15T20:15:53+05:30
Attachment attached have a look on it! mark it as best!
4 3 4
pakka yeh fa k liye hai pakka nn..
yes! i have 2 more should i send!
2014-10-16T15:14:07+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
नदीप्रारंभ करती है 
अपनी जीवन यात्रा |
दोनों ओर,
जीने की आशा ,
और परोपकार का उद्देश्य
रुपीतटों को साथ लेकर |
अनवरत चलती रहती है,
वगैर किसी स्वार्थ के ,
सभी की प्यास बुझाते हुए |
बाधाएं आती है ,
रास्ता रोकने के लिए ,परन्तु
असफल रहे
किये गए सभी प्रयास
उनके ,
और नदी पाती है आशातीत सफलता |
सभी रुकावटों को तोड़कर
एकाकी वगैर किसी सहायता
के औरजब अंत आया तोइसी
आशा से कीशायद 
कम कर सके खारापन ,
सागर का ,
अर्पण कर मीठा जल अपना ,
खो देती है अस्तित्व
विलीन होकर
सागर की गहराइयों में |
यही तो है ,कहानी
प्रत्येक महापुरुष की
उपकारस्व - का नहींपर का उपकार
परोपकार            
परोपकार                             
परोपकार........

By amit jain

:)

9 4 9