Answers

2015-01-06T06:52:56+05:30

स्वच्छ भारत अभियान  की शुरुवात नरेंद्र मोदी ने किया था.

 

ये २ अक्टूबर को आरम्भ हुआ था.

 

२ अक्टूबर को मोहन दास करमचंद गांधीजी का भी जनम दिन है.

 

ये चाहते थे की भारत सिर्फ स्वतंत्र नहीं होगी , भारत स्वच्छ भी होगा.

 

इस लिए  इस अभियान को इनके जनम दिन पर आरम्भ किया गया है.

 

हम सब का भी कर्त्तव्य बन ता है की हम सब मिलकर इस में भाग ले .

 

हमें अपने घर को स्वच्छ बनाना चाहिए.

 

हमें हमरे घर के शौचालय भी स्वच्छ रखना चाहिए.

 

बगीचे में कूड़े नहीं फेक ने चाहिए.हमारा दूसरा घर है विद्यालय  .

 

हमें इसे भी स्वच्छ रखना चाहिए.

 

अगर हम स्वच्छ नहीं रहेंगे तोह लोग हमें इज़्ज़त नहीं देंगे.

 

हमें रोज़ नहाना चाहिए ताकि हमारे देह से दुर्गन्ध न आये.

 

हमें धुले हुए कपड़े पहनने चाहिए ताकि हमें सुन्दर दिखे .

 

इससे हमारे इज़्ज़त घट के वजय और बड़ेगी.

 

हमें आज से ही अपने घर और स्कूल को स्वच्छ बनाना आरम्ब कर देना चाहिए.

 

इस तरह से हम भारत को स्वच्छ बना पाएंगे.

 

भारत स्वच्छ होगा तोह हम भी स्वस्थ रहेंगे.

 

इस अभियान का लक्ष्य है गाओं में सौचालय बनवाना और उसे स्तेमाल करवाना.

 

इस अभियान के ज़रिये लोग स्वच्छकता की महत्व जान पाएंगे.

 

यह अभियान ५ साल तक चलेगा.

1 5 1
2015-01-06T13:03:39+05:30



स्वच्छ भारत अभियान में योगदान देने और सोशल मीडिया पर अपना अनुभव साझा करने के लिए प्रधानमंत्री ने 9 प्रमुख हस्तियों को आमंत्रित किया

प्रधानमंत्री द्वारा राजपथ पर स्वच्छता की शपथ दिलाए जाने के दौरान फिल्म अभिनेता आमिर खान ने मंच साझा किया

प्रधानमंत्री ने मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन का किया औचक निरीक्षण

प्रधानमंत्री ने वाल्‍मीकि बस्ती से स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज लोगों से महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने का आह्वान किया। नई दिल्ली में राजपथ पर स्वच्छ भारत अभियान की औपचारिक शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री ने भारत माता के दो महान सपूतों महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे श्री शास्त्री द्वारा ”जय जवान, जय किसान” का नारा दिए जाने के बाद किसानों ने कड़ी मेहनत की और देश को खाद्य सुरक्षा के मामले में आत्मनिर्भर बनाया। उन्होंने कहा कि गांधीजी के दो सपनों (भारत छोड़ो और स्वच्छ भारत) में से एक को हकीकत में बदलने में लोगों ने मदद की। हालांकि, स्वच्छ भारत का दूसरा सपना अब भी पूरा होना बाकी है। उन्होंने कहा कि एक भारतीय नागरिक होने की खातिर यह हमारी सामाजिक जिम्मेदारी है कि हम वर्ष 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनाए जाने तक उनके स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करें।

प्रधानमंत्री ने देश की सभी पिछली सरकारों और सामाजिक, धार्मिक एवं सांस्कृतिक संगठनों द्वारा सफाई को लेकर किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि भारत को स्वच्छ बनाने का काम किसी एक व्यक्ति या अकेले सरकार का नहीं है, यह काम तो देश के 125 करोड़ लोगों द्वारा किया जाना है जो भारत माता के पुत्र-पुत्रियां हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान को एक जन आंदोलन में तब्‍दील करना चाहिए। लोगों को ठान लेना चाहिए कि वह न तो गंदगी करेंगे और न ही करने देंगे।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन के मुताबिक साफ-सफाई न होने के चलते भारत में प्रति व्‍यक्ति औसतन 6500 रुपये जाया हो जाते हैं। उन्‍होंने कहा कि इसके मद्देनजर स्‍वच्‍छ भारत जन स्‍वास्‍थ्‍य पर अनुकूल असर डालेगा और इसके साथ ही गरीबों की गाढ़ी कमाई की बचत भी होगी, जिससे अंतत: राष्‍ट्रीय अर्थव्‍यवस्‍था में महत्‍वपूर्ण योगदान होगा। उन्‍होंने लोगों से साफ-सफाई के सपने को साकार करने के लिए इसमें हर वर्ष 100 घंटे योगदान करने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने शौचालय बनाने की अहमियत को भी रेखांकित किया। उन्‍होंने कहा कि साफ-सफाई को राजनीतिक चश्‍मे से नहीं देखा जाना चाहिए, बल्कि इसे देशभक्ति और जन स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति कटिबद्धता से जोड़ कर देखा जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान में योगदान देने और सोशल मीडिया पर इसे साझा करने के लिए उन्‍होंने नौ हस्‍तियों को आमंत्रित किया है, जिनमें मृदुला सिन्‍हा, सचिन तेंदुलकर, बाबा रामदेव, शशि थरूर, अनिल अंबानी, कमल हसन, सलमान खान, प्रियंका चोपड़ा और ‘तारक मेहता का उल्‍टा चश्‍मा’ की टीम शामिल हैं। उन्‍होंने बताया कि इन कार्यों को अंजाम देने के लिए नौ अन्‍य लोगों को आमंत्रित किया गया है और इस तरह एक श्रृंखला-सी बना दी गई है। उन्‍होंने लोगों से #MyCleanIndia का इस्‍तेमाल करते हुए सोशल मीडिया पर अपने योगदान को साझा करने का आग्रह किया है।
प्रधानमंत्री ने स्‍वच्‍छ भारत अभियान के प्रतीक चिन्‍ह और इसके नारे से जुड़ी प्रतियोगिता के विजेताओं को बधाई दी। ये हैं- महाराष्‍ट्र से अनंत और गुजरात से भाग्‍यश्री। नारा है- ‘एक कदम स्‍वच्‍छता की ओर’। प्रधानमंत्री जब उपस्‍थित भीड़ को स्‍वच्‍छता की शपथ दिला रहे थे तो उस वक्‍त जाने-माने फिल्‍म अभिनेता आमिर खान ने भी मंच साझा किया। केन्‍द्रीय मंत्रियों वेंकैया नायडू और नितिन गडकरी ने भी उपस्‍थित लोगों को संबोधित किया।
इससे पहले प्रधानमंत्री राजघाट एवं विजयघाट गए और देश के दो महान सपूतों महात्‍मा गांधी और लाल बहादुर शास्‍त्री की जयंती पर उन्‍हें पुष्‍पांजलि अर्पित की। इसके बाद वह वाल्‍मीकि बस्‍ती गए, जहां महात्‍मा गांधी एक बार रुके थे। प्रधानमंत्री ने यहीं से स्‍वच्‍छता अभियान की शुरुआत की। प्रधानमंत्री ने नई दिल्‍ली स्‍थित मंदिर मार्ग पुलिस स्‍टेशन का औचक निरीक्षण भी किया। प्रधानमंत्री ने स्‍वयं एक झाडू लेकर धूल की सफाई की। बाद में उन्‍होंने पुलिस अधिकारियों से स्‍वच्‍छता बनाए रखने का आह्वान किया।

0