I need 3 to 5 essay on swach bharat abhiyan

2
Firstly nobody would give you 3-5 essays when you're giving such less points secondly you should ask 3-5 different question to get the result you need
yaa u r ryt tanika
tanika i dont know why ae you so shocked to here 3-5 essay its normal thing and why should i ask different question when i just want 3-5 essay on a singe topic.....
cause thats the rule i don't think u will write 3 to 5 essays in school for just five marks u will get irritated if the question paper have a question like that
I am talking about brainly and I am not shocked I am telling you .. Telling the rules.. You tell me .. Will someone waste their precious time giving 3-5 essays for 5 points. I would certainly not

Answers

The Brainliest Answer!
2015-03-02T13:26:07+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
1. यही हमारा नारा है भारत को स्वच्छ बनाना है।
2. स्वच्छ भारत, सुंदर भारत ,
प्रधानमंत्री ने देश भर में 30 लाख सरकारी कर्मचारियों में शामिल हो गए जो इंडिया गेट पर एक सफाई प्रतिज्ञा, का नेतृत्व किया. उन्होंने यह भी राजपथ पर एक  झंडी दिखाकर रवाना किया और सिर्फ एक टोकन कुछ कदम के लिए नहीं में शामिल होने, लेकिन लगभग 800 मीटर की दूरी पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निवास तक प्रतिभागियों के साथ अग्रसर से लोगों को हैरान कर दिया.अपने संबोधन में श्री मोदी ने अभियान जो महात्मा गांधी के लिए सबसे अच्छी श्रद्धांजलि था ने कहा, "हमें संदेश 'भारत, स्वच्छ भारत छोड़ो' दे दी है.उन्होंने कहा कि शौचालय, आज सहित सफाई कार्यालयों में उनके विभागों का नेतृत्व करने के लिए नौकरशाहों और मंत्रियों को निर्देश दिया है.हाल के दिनों में, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी और राम विलास पासवान जैसे मंत्रियों को अपने कार्यालयों के व्यापक हिस्सों में देखा गया है.गुरुवार की सुबह पर, आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री के निवास के पास की सड़कों की सफाई में देखा गया था.श्री मोदी ने महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के साथ मेल खाना, 2019 तक स्वच्छ भारत बनाने के लिए प्रण, उसकी मई जीत के बाद से लगभग सभी अपने सार्वजनिक भाषणों में स्वच्छता के महत्व पर बल दिया गया है. मोटे तौर पर भारत की आबादी का आधा अपने घरों, श्री
मोदी भी ठीक करने की कसम खाई है कि एक स्वास्थ्य और सुरक्षा की समस्या में शौचालय नहीं है

2 5 2
2015-03-02T14:09:52+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
स्वच्छ भारत अभियान हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरंभ किया है। भारत को हमेशा गाँधीजी साफ़ देखना चाहते थे। येह हमारे देश मे रहने वाले लोगो को आपने देश को स्वच्छ रखना सिखाते है।येह अभियान २ ओक्टूबर को शुरु किया गया था।येह अभियान भारतीयो को समझाने की कोशिश की है कि येह देश हमारा है। हमे ही इसे सजा के और स्वच्छ रखना पडेगा। हमे अपने घर  मे साफ़ - सफ़ाई रखनी होगी और सारे गंदगी को सही माईनो से कुडा-डान मे फ़ेखना होगा। हमे यहा-वहा सौच नही करनी चाहिये और सौचालय मे ही करनी चाहिये। हमे अपने स्कुल मै हाथ धोकर खाना खाना चाहिये ताकी हम बीमर ना पडे।अगर हम स्वच्छ रहे तो हमारा शरीर भी ठीक रेहता है और हमे ज्यादा बीमरी नहीं होती| स्वच्छ रहना हमारा कर्तव्य है और हमे इस जीम्मेदारी को ठीक से उठाना चाहिये|        हम है स्वच्छ भारत के रेहने वले,नही बनायेन्गे भारत को कुडा-डान,यही है हमारा मान और सम्मान,रखेन्गे साफ़ हमारा भारत् महान।
इतनी शी बात हवाऔ को बताए रखना,रौशिनी होगी चिरगो को जलाए रखना,लहु देकर ही इसकी सफ़ाई करेन्गे,एसे दिल मे सफ़ाई बसाए रखना,और एसे ही दिल मे तिरंगा लेहरायए रखना।
स्वच्छ भारत , स्वस्थ भारत |येह हमारा भारत है , हम इसे गॉधा करते है , तो क्या येह हमारा कर्तव्य नही बनता कि हम इसे साफ़ रखे।
2 5 2
thnaks #shravani for your answer
welcome