Answers

2015-04-07T20:28:25+05:30
अर्ज़ है …….न मुस्कुराने को जी चाहता है ,न कुछ खाने-पीने, न सोने को जी चाहता है !ये गर्मी अब बर्दाशत नहीं होती ,सब छोड़ कर अब शिमला चले जाने को जी चाहता है !
0