Baccho ke Jeevan mein shiksha ka kya mahatva hai

1
bachcho k jvn me shiksha ka bht mhtv h
bachcho k jeevan mein shiksha ka bahut mahatva h agar bachche nahi padenge toh vo apni life mein kabhi success nahi honge , unki is duniya mein koi value nahi hongi . and in last that the studies is must in the children life .
shiksha ka mahatwa ye hai ki agar aap shikshit nhi hote to aap ye question puch hi nhi skte the

Answers

2015-05-05T19:28:45+05:30

This Is a Certified Answer

×
Certified answers contain reliable, trustworthy information vouched for by a hand-picked team of experts. Brainly has millions of high quality answers, all of them carefully moderated by our most trusted community members, but certified answers are the finest of the finest.
                             बच्चों को शिक्षा की जरूरत

      शिक्षा मनुष्य के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है।  शिक्षा, 
शिक्षित बात करना,  शिक्षित विचार करना , शिक्षित संस्कृति,  ये सब एक आदमी को,  जानवरों या निरक्षरों या पथर-युग  के पुरुषों  से  अलग और ऊंचा  करता   हैं।

      इस प्रकार, शिक्षा एक निश्चित उम्र तक के सभी बच्चों को दिया जाना चाहिए।    बुनियादी न्यूनतम ज्ञान और कौशल, हर व्यक्ति को दिया जाना चाहिए।   शिक्षा के बिना, इस आधुनिक समाज में, किसी भी अच्छी नौकरी पाना   या पैसे  कमाना   संभव नहीं है।   बच्चों को किसी भी कौशल, संस्कृति, जीवन शैली, स्वास्थ्य, स्वच्छता, समाज में व्यवहार करने की तरीका, 
शिष्टाचार आदि   नहीं सीख सकते हैं।

       आशिखित  बच्चे  एक अच्छे  तरीके से अन्य लोगों के साथ बातचीत नहीं कर सकते।  पड़ोसी बच्चे  निरक्षर बच्चों का मज़ाक उड़ाते हैं।     शिक्षा के बिना एक व्यक्ति अपने को हीन महसूस करता है।  अविकसित क्षेत्रों में कई लोग  अभी भी 
बुरी तरह जी  रहे हैं,  उनके निरक्षरता और ज्ञान की कमी की वजह से ।    अनपढ़  लोग  अंधविश्वासी होने की संभावना है।   शिक्षा एक एक बच्चे को  एक  वयस्क बनने का काबिल बनाता है।    वह   अपने और अपने परिवार की देखभाल कर सकता  है ।   शिक्षा ठीक से जीवन बिताने के लिए और अच्छी तरह से खुद के आश्रितों की देखभाल करने के लिए जरूरी ज्ञान   प्रदान करता   है।

       भारत जैसे देश में,  सभी लोगों को शिक्षित करने के लिए सुविधाओं की व्यवस्था करना  आसान नहीं है।  मुख्य कारण  है  भ्रष्टाचार और भारत की विशाल जनसंख्या और  गरीबी ।    
बहुत सरकारी स्कूल  बनाना ,  बच्चों को दिन के दौरान स्कूल में  खिलाना ,  गरीब लोगों के लिए और निश्चित रूप से अविकसित  वर्गों के बच्चों  के लिए   हॉस्टल बनाना ,  स्कूलों में छात्रों को शामिल  करने के  लिए विभिन्न योजनयें बनाना ,  अध्ययन सामग्री उपलब्ध कराना  हैं।

      ग्रामीण लोगों को उनके गांवों के  नजदीक में जब रोजगार मिलते  हैं तो तब ,  शिक्षित सभी बच्चे अपने गावों  में जाएंगे।  aअपने गाव को विकसित करेंगे।   और उनकी  शिक्षा सफल हो जाएगा।   

33 4 33
प्लीज क्लिक ऑन थैंक्स बटन. Please click on thanks button button
Comment has been deleted